मां

मां बच्चों को सदा बचाती, दुविधा-दिक्कत, कोप-कहर से । बुरी नजर 'छू-मंतर' होती, मां की ममता भरी नजर से।। बच्चों की खुशियों की खातिर, मां ने मन्नत मान रखी है।…

0 Comments

End of content

No more pages to load

Close Menu